Breaking Uttar Pradesh

कैराना में रंगदारी और पलायन के जिम्मेदार फुरकान पुलिस के निशाने पर आ गया

Written by prachur
शामली के कैराना में व्यापारियों से रंगदारी मांगने वाला कुख्यात बदमाश फुरकान शनिवार को पुलिस के निशाने पर आ गया। पुलिस मुठभेड़ में फुरकान को पांच गोलियां लगी। जबकि दो पुलिस वाले भी घायल हो गए। पुलिस महानिदेशक जावेद अहमद ने शुक्रवार को ही फुरकान पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था।
दरअसल मामला जनपद शामली के कैराना कोतवाली थाना क्षेत्र का है। जहां मुकीम उर्फ़ काला गैंग के 50 हजार के इनामी बदमाश फुरकान ने कैराना में सर्राफा व्यापारी रामअवतार वर्मा से 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी, फुरकान ने रंगदारी नही देने पर व्यापारी को हत्या करने की धमकी दी थी, जिसके बाद पीड़ित व्यापारी ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन पुलिस इसे गिरफ्तार नहीं कर पाई, जिससे गुस्साए कैराना के व्यापारियों ने बाजार बंद कर फुरकान की गिरफ़्तारी की मांग की थी, लेकिन समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान शह मिलने की वजह से फुरकान पर पुलिस कार्रवाई करने से डरती थी, लेकिन सरकार बदलने के सात ही पुलिस ने इस वारदात को अंजाम दे दिया।
पुलिस में व्यापारियों को आश्वासन दिया था कि पॉलिसी से 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लेगी बावजूद इसके पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाएगी लेकिन लगातार व्यापारियों को आश्वासन दे रही थी।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि फुरकान कैराना में ही मुठभेड़ के घायल हुआ है। उसे चार गोलियां लगी हैं। फुरकान पुत्र फीमूद्दीन कैराना का ही निवासी है। कैराना पलायन पर मचे बवाल के दौरान भी फुरकान कारोबारियों के घरों में चिट्ठियां भेजकर उससे रंगदारी मांगता रहा था। एसपी सरकार के कार्यकाल में फुरकान को इलाके के एक कद्दावर नेता की शह मिली हुई थी, इसलिए पुलिस भी कार्रवाई करने से अबतक बचती रही थी। लेकिन राज्य में सरकार बदलने के बाद पुलिस हरकत में आ गई है।

Comments

comments

About the author

prachur

Admin of Prachur.com. Please follow us on social media. Links are attached below.
Like us on facebook https://www.facebook.com/prachurnews/

Leave a Comment